जीवन का वास्तविक सुख क्या है ?

  

Jivan


 हेलो मित्रों नमस्कार मैं फिर से एक नया जानकारी लेकर हाजिर हूं । मित्रों जीवन का वास्तविक क्या है ? और सुख क्या है ? ऐसे सवाल हर किसी के मन में  पैदा जरूर होता होगा । तो आइए हम अपने वास्तविक और जीवन में वास्तविक सुख क्या है ? उसे जान लेते हैं । 


हर एक व्यक्ति को अपने जीवन का मूल वास्तविक जानकारी होना अति आवश्यक है, क्योंकि जो इंसान अपने जीवन का वास्तविक समझ नहीं पाए वह कभी भी अपना सुख के विषय में नहीं जान सकेंगे। सर्वप्रथम हर मनुष्य को अपना वास्तविकता जरूर जानना चाहिए ।


 पृथ्वीलोक में सर्वश्रेष्ठ प्राणी एक मनुष्य होता है और वही मनुष्य जो ईश्वर को पुकारते हैं । हम ईश्वर की बंदा है इसलिए हमारा प्रथम कर्तव्य है परमात्मा की जो ज्ञान हमारे इस पृथ्वी लोक पर दिया गया है उसे समझना ।


हम मनुष्य जन्म लिया हूं जन्म लेने के बाद जो कुछ भी हम सीखा हूं अपने संस्कृति और अपना संस्कार यह सभी दादा, पिता ,माता जी से सीखा हूं । माता पिता वह भी अपने पूर्वजों से संस्कार सीख कर हम तक पहुंचा है । जो परमात्मा लोग हमारे इस धरती पर उपदेश देकर गए हैं उनका बात हम लोग धीरे धीरे पीछे करते जा रहे हैं , जिसके कारण हमारे संस्कार और संस्कृति यह कम होती जा रही हैं । संस्कृति और संस्कार कम होने का कारण हमारे जीवन में सुख से ज्यादा दुख का प्रभाव हो रहे हैं । 


 हम खाली हाथ आए हैं इस धरती पर  फिर हमें इसी खाली हाथ से लौट जाना है जहां से हम लोग आए थे । जब तक हम मनुष्य जी रहे हैं तब तक अपने के लिए कुछ ना कुछ सोचते रहते हैं पर यह वास्तविक नहीं है ,जो दूसरे के लिए हर वक्त सोचते हैं और जो दूसरे की मुस्कुराहट देखकर खुश होते हैं यही जीवन का वास्तविक है । 

हम मनुष्य यदि आपस में मनुष्य को प्रेम नहीं कर सकते हैं, यदि किसी दूसरे प्राणी को प्रेम नहीं कर सकते हैं तो मनुष्य के जीवन व्यर्थ है । 

छोटे लेकिन अचूक टोटके

लाल किताब के सिद्ध 25 टोटके और उपाय

लाल किताब के प्रभावशाली टोटके

ज्योतिष उपाय टोटके

प्राचीन टोटके

अचूक तांत्रिक टोटके

चमत्कारी टोटका

43 दिन के उपाय

जो मनुष्य दूसरे प्राणी को रुला के सुखी रहना चाहते हैं यह कोई वास्तविक नहीं है । सुख अपने अंदर ढूंढने से मिल सकता है ☝️ उससे पहले दूसरे की मन की बात आपको समझना है । यदि कोई व्यक्ति दूसरे की अनुभव एवं दूसरे की मन की बातें समझ सकते हैं तो वह हर हाल में सुख को प्राप्त कर सकता है ।


यदि कोई वस्तु किसी को सुख दे पाता तो आज पृथ्वी के अधिकांश लोगों के पास वस्तु मैं कमी नहीं है परंतु उन्हें सुख नहीं है । यदि किसी व्यक्ति के पैसे से सुख मिलता तो आज कई लोगों के पास पैसा है परंतु उनके मन में सुख नहीं है । वास्तविक जीवन तो यह है कि सुख आपके मन में हैं जो आप उसे समझ सकते हैं । 


जो व्यक्ति दूसरे की गलती पर झगड़ा लफड़ा करते हैं वह व्यक्ति अपने गलती समझ नहीं पाते तो भला उसे सुख कैसे प्राप्त होगा । जो व्यक्ति अपना भूल स्वयं समझ सकते हैं उसे सुख प्राप्त करने में ज्यादा वक्त नहीं लगता ।


पहले अपना जीवन का वास्तविक समझे , उसके बाद दूसरे की गलती को भी समझे , और अपना गलती को भी समझने की प्रयास करें । यह तीनों चीज जो व्यक्ति समझ लेंगे उसे सुख प्राप्त करने में ज्यादा समय नहीं लगता है ।


 मित्रों जीवन का वास्तविक सुख कहां है ? मनुष्य के सुख न ही वस्तु, पैसा और ना ही भोजन में । हर किसी व्यक्ति के सुख है तो उसके मन में । अपने मन को समझने की प्रयास करें ।

👇

जिस व्यक्ति के मन में लालच भरे हुए हैं वह व्यक्ति कभी सुखी नहीं रह सकते हैं । लालच उसमें करें जिसमें दूसरे की भलाई हो अपने के लिए कभी नहीं करना चाहिए । लालच से इंसान की बुद्धि भ्रष्ट हो जाता है और वो धीरे-धीरे सुख का मुंह से दूर हो जाते हैं । 

मनुष्य में इतना शक्ति है कि अपने सुख वह स्वयं ला सकते हैं बस अपने मन को समझना है और दूसरे का भी ।


 मित्रों यह मेरा छोटा सा जानकारी जहां आप को सुख देने में काम आएंगे ।  मित्रों हमारे इस जानकारी से आपको कैसा लगा यदि आपको अच्छा लगे तो कमेंट करके जरूर बताइए ताकि अगले जानकारी के लिए इससे भी अच्छा धमाकेदार जानकारी लेकर आएंगे तब तक के लिए आप सुरक्षित रहिए , स्वस्थ रहिए आपका दिन शुभ हो । 🙏

छोटे लेकिन अचूक टोटके

लाल किताब के सिद्ध 25 टोटके और उपाय

लाल किताब के प्रभावशाली टोटके

ज्योतिष उपाय टोटके

प्राचीन टोटके

अचूक तांत्रिक टोटके

चमत्कारी टोटका

43 दिन के उपाय


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

--------------OR----------------- Editable Script: