घर से सांप भगाने का मंत्र जानिए




Mantra


घर से सांप भगाने का महामंत्र जाने हमारे साथ ।

मित्रों नमस्कार हमारी वेबसाइट में आपका स्वागत है ।

हिंदू धर्म में सांप को देवी देवताओं के स्थान दिया गया है सिर्फ हिंदुस्तानी नहीं है बल्कि पूरी दुनिया में नाग देवी की पूजा की जाती है । अगर आपके घर में सांप के उपद्रव है तो चिंता ना करें इसके लिए एक ऐसे शक्तिशाली मंत्र लेकर आया जिसके जरिए आप आपके घर से कोई भी सांप हो दूर भगा सकते हैं । जिसके घर में सांप का वास होता है यह तो स्वभाविक कथा है कि हमेशा डर डर के रहना होता है । क्योंकि सांप का जहर इंसान के मौत के कारण बनता है इसलिए डरना भी बहुत जरूरी है । और जिसके घर में हमेशा साफ दिखाई देने से घर में ना केवल इंसान रहना चाहिए और ना ही कोई पशु । पुराण में कहां है कि इस मंत्रों का प्रयोग करने से कोई भी सांप इंसान को तकलीफ नहीं देगी वह अपने रास्ते चले जाएंगे । अगर किसी के घर में सांप बस जाए तो इस मंत्र के जरिए तुरंत भगाई ।


नर्मदायै नमो प्रात: नर्मदायै, नमो निशी।


नमोस्तू ते नर्मदे। तुभ्यं, त्राही मां विष-सर्पत:।।


सर्पाय सर्प-भद्रं ते दुरं गच्छ महा विषम्।।


जन्मेजय - यज्ञान्ते, आस्तिक्यं वंदन स्मर।।


आस्तिक्य-वचनं स्मृत्वा, य:सर्पोन निवर्ताते।।


भिद्दते सप्तधा मुर्हिन, शिंश-वृक्ष फलं यथा।।


यो जरुत्कारुज यातो, जरुत-कन्या महा यशा:।।


तस्य सर्पख भद्रं ते दुरं गच्छमहा- विषय।


दुहाई राजा जन्मेजय ! दुहाई अस्तिक मुनि की ! दुहाई जरुत्कार की !


पिले सरसो हात मे लेकर उस पर फुक मारते हूये ३ बार हथेली पर ताली बजना चाहिए । 

इस प्रकार क्रिया करते हूए ७ बार सरसो घर मे चारों ओर छीठ दें ।


हरीद्वार में मनसा देवी के महा तपस्विनी सुपुत्र आस्तिक मुनी । अस्तिक मुनी ने सर्पो को परिक्षित राजा के बेटे जन्मेजेय के सर्प यज्ञ मे बचाया था।

जिसके कारण सर्पोने आस्तिक मुनी को वरदान दिया था कि महाराज जहॉ आपका नाम लिया जायेगा वहॉ उपद्रव नही फैलायेंगे वहॉ अपना जहर नही फैलायेंगे।

तो आज भी अगर कही साप आजाये और साप का डर होतो है तो इस मंत्र का एक बार अवश्य करें ।


   "मुनी राजम् अस्तिकम् नम:🙏"


जप करें वहॉ साप नही आयेगा, अगर आया भी तो ये मंत्र बोले चला जायेगा|

*पंढरी की काठी हमेशा अपने पास रख लीजिए हिंसक प्राणी हो या आदमी पास नही आयेंगी ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ