kal sharpo dosh ka Nivaran kaise kar sakte hain janiye Aasan upay

  

kal sharpo dosh

kal sharpo dosh निवारण मंत्र जप कैसे करें जानने के लिए हमारे साथ बने रहिए मित्रों नमस्कार हमारे वेबसाइट में आपका स्वागत हुआ है ।

जिन व्यक्ति पर सर्प दोष लगे हुए होता हैं उनके जीवन में कोई सफलता प्राप्त नहीं होगी किसी भी कार्य पर बाधा उत्पन्न होगा इसलिए सर्प दोष निवारण मंत्र हमें भक्ति और श्रद्धा के साथ करनी चाहिए ।

सर्प दोष होने पर आप गायत्री मंत्र जाप कर सकते हैं इससे सर्प दोष दूर हो सकते हैं। सर को गायत्री मंत्र जाप करने से लाभ मिलेगी लेकिन और भी मंत्र हम आपको देने जाने हैं जिससे आप सर्प दोष से जल्दी छुटकारा पा सके तो दोस्तों मैं आपको बता दूं कि सर को दोष होने पर आदमी का याददाश्त खो जाते हैं किसी भी प्रकार के जिंदगी आगे बढ़ाने की उन्हें कोई लाभ प्राप्त नेहीं  होती है । व्यक्ति के सर्प दोष होने पर दूसरे की बात सुन सुनकर जिंदगी तंग आ जाती है उसके बाद उन्हें आत्महत्या करने की नौबत आ जाती है इसलिए सर्प दोष से छुटकारा पाना हमारे लिए अत्यंत आवश्यक है ।

वैसे तो सर्प दोष हर किसी को जल्दी लगता नहीं है कभी कभी भगवान अपने भक्तों को परीक्षा लेने हेतु सर्प दोष उन्हें लग सकता है । इसके लिए अपने प्रभु ईश्वर प्रति भरोसा रखना चाहिए और अपनी जिंदगी को आगे बढ़ाने के लिए प्रयास करना चाहिए सर्प दोष निवारण के लिए बहुत सारे मंत्र है जो आप जप करके निवारण कर सकते हैं ।

जिस व्यक्ति की कुंडली में सर्प दोष होता है वैसे व्यक्ति के अच्छी नौकरी या अच्छे बिजनेस करने की कोई रास्ता ही नहीं रहते हैं  इधर उधर भटक भटक के दिन निकालते हैं ।  इसलिए सर्प दोष निवारण करना बहुत ही आवश्यकता है । और तो और अच्छे काम करने से भी उन्हें अच्छे कर्मों के फल मिलते नहीं है जिसके कारण जिंदगी निराश हो जाते हैं ।  सर्प दोष होने से व्यक्ति के संतान भी प्राप्त नहीं होती है जिसके कारण जीवन अधूरा ही अधूरा रह जाते हैं  । 

तो दोस्तों अगर आपका भी यही परिस्थिति है तो बिल्कुल चिंता मत करिए मैं आपके लिए वह आसान उपाय लेकर आया हूं जिसके जरिए इन सब चीजों से छुटकारा पा सकते हैं ।

 

rahu के मंत्र– ।।ऊँ भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहवे नम:।

ketu के मंत्र ।। ऊँ स्त्रां स्त्रीं स्त्रों सः केतवे नमः।।

Bhagwan Shiv Ki Puja Archana Karen। सरसों का दीपक जलाकर

 “ओम नमः शिवाय“ मंत्र का 21000 बार जप करें।


भगवान श्री कृष्ण का पूजन करें और प्रतिदिन 

ओम नमो भगवते वासुदेवाय”  मंत्र का 108 बार जप करें।


महामृत्युंजय मंत्र का 108 बार jap करें।

कालसर्प दोष निवारण mantra का जाप करें |

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। नान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥


नमनाग  स्त्रोत्र का पाठ करें।


अनन्तं वासुकिं शेषं पद्मनाभं च कम्बलं शन्खपालं ध्रूतराष्ट्रं च तक्षकं कालियं तथा एतानि नव नामानि नागानाम च महात्मनं सायमकाले पठेन्नीत्यं प्रातक्काले विशेषतः तस्य विषभयं नास्ति सर्वत्र विजयी भवेत इति श्री नवनागस्त्रोत्रं सम्पूर्णं 


॥ naag गायत्री मंत्र ॥

 ॐ नव कुलाय विध्महे विषदन्ताय धी माहि तन्नो सर्प प्रचोदयात 

 

तो दोस्तों यहां जो कुछ भी उल्लेख किया गया है अगर आप नियमित रूप से पालन करेंगे तो कुछ ही दिनों के अंदर आप का संकट दूर हो जाएगी और तो और घर के चारों ओर वातावरण भी शुद्ध हो जाएगा आपके इस मंत्र जप करने से सर्प दोष से आप बड़ी आसानी से छुटकारा पा सकते हैं । 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ