घोर कलयुग में क्या क्या होगा ? पूरी जानकारी


घोर कलयुग में क्या क्या होगा


घोर कलयुग में क्या क्या होगा विस्तार से जानने के लिए हमारे साथ बने रहिए मित्र नमस्कार हमारे वेबसाइट में आपका स्वागत है ।



वर्तमान युग कल युग चल रहा है हिंदू ग्रंथ में चार युग की उल्लेख किया सत्य युग, द्वापर युग, त्रेता युग, एवं कलयुग ।इन तीनों युग से अधिक आयु कलयुग के हैं इसलिए कलयुग अभी तक समाप्त नहीं हुई ।हिंदू शास्त्र के अनुसार कलयुग की आयु 4,32,000 तक है वर्तमान 5022 साल तक पूर्ण हुई अभी तक आप हिसाब कर सकते हैं कितनी बाकी है ।

प्रिय मित्रों वेदों के अनुसार पूरे ब्रह्मांड के लिए चार युग का निर्माण किया सतयुग द्वापर युग त्रेता युग एवं कलयुग समाप्त होंगे उसके बाद फिर से नया युगो की स्थापित होंगे । 

घोर कलयुग कब आएगा प्रिय मित्रों इसके लिए आपको विस्तार से बताएंगे घोर कलयुग वेदों के अनुसार कलयुग समाप्त होने के बाद ही आएंगे लेकिन उसकी आयु बहुत ही कम दिन के लिए होंगे कहां गया कि कलयुग के अंत में इस धरती पर इतनी बाप होने लगेंगे कि इंसान आपस में लड़ के जीवन व्यतीत करेंगे  । इस धरती पर उस समय भगवान की कोई अस्तित्व नहीं रहेंगे । इंसान सब अपने-अपने मतलबी से रहेंगे । इंसान किसी भी प्राणी को मदद नहीं करेंगे सिर्फ अपने के लिए सोचेंगे इस धरती बिल्कुल परमात्मा की वास नहीं होंगे । उस समय भगवान की कोई पूजा आराधना करने के लिए नहीं रहेंगे । बस भटकते हुए आत्मा इस धरती पर रह जाएंगे पापों की कागार इतनी भर जाएंगे कि आने वाले समय में इंसान इंसान के मांस खाएंगे  । 

शास्त्र के अनुसार आने वाले समय में इस धरती पर उसी इंसान को जन्म होने वाले हैं जो कई प्रकार के पाप कर चुके होंगे पिछले जन्म में मतलब इस जन्म में । वर्तमान जो भी आप परिस्थिति देख रहे हैं इस दुनिया में इससे भी भयानक दृश्य आने वाले हैं । जहां इंसान एक दूसरे की खून करने में कभी पीछे नहीं हटेंगे बस अपने के लिए सोचेंगे और दूसरे की मौत के घाट उतार देंगे ।

   

घोर कलयुग में क्या क्या होगा ?


धर्म ग्रंथ के अनुसार कलयुग के अंत में हत्या, चोरी, बलात्कार, ब्लैकमेल सबसे ज्यादा होने वाले हैं जिसके कारण यह धरती का रंग बदल जाएगा । क्योंकि उस समय इंसानएक दूसरे के खून की प्यासा में रहेंगे उस समय इंसान के खून इस धरती पर बहता जाएगा । 


कलयुग के अंत के समय मनुष्य के मनोभाव के परिस्थिति ईतने खराब होंगे कि एक पिता अपने पुत्र को नहीं पहचान सकेंगे और ना ही पुत्र अपने पिता को पहचान सकेंगे । पिता के मृत्यु के बाद पुत्रों श्राद्ध भी नहीं करेंगे अपने पिता के आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना भी नहीं करेंगे । आप समझ सकते हैं कि उस समय मनुष्य के अंदर धर्म ज्ञान बिल्कुल समाप्त होंगे और तभी कलयुग की समाप्त होंगे  । 


कलयुग समाप्त होने के बाद पापों की कगार इतना बढ़ जाएगा की भगवान विष्णु स्वयं कल्की अवतार लेकर सभी पापियों को संघार करेंगे । धर्म शास्त्र के अनुसार कहा गया है कि 3 दिन के अंदर भगवान विष्णु कल्कि अवतार लेकर समस्त पृथ्वीलोक के पापियों को संघार करेंगे और फिर सभी अधर्म को नष्ट कर देंगे उसके बाद नए युग की शुरुआत होंगे । जो 3 दिन भगवान विष्णु कल्कि अवतार लेकर संघर्ष करेंगे उस दिन घोर कलयुग कहा जाएगा, पापों का संघार के दिन कहा जाएगा ,अधर्म का नाश के दिन कहा जाएगा  । 


प्रिय मित्रों कलयुग के अंत के समय पापी आत्माओं का वास होगा पृथ्वी पर और पुण्य आत्मा इस धरती पर नहीं रहेंगे । क्योंकि पुण्य आत्मा की जन्म मृत्यु से मुक्त हो जाएंगे । घोर संकट आने वाले समय में दर्दनाक दृश्य देखने वाला भी हैरान रह जाएंगे और यही सब दृश्य वही पापी आत्मा ही देख सकते हैं पुण्य आत्मा कभी भी इन सब उलझन में नहीं रहेंगे । पुण्य आत्मा भगवान के स्मरण चले जाएंगे । घोर कलयुग वही लोग देख सकते हैं जो घोर पाप किए होंगे । 

आज वर्तमान जो कुछ भी हो रहे हैं यह हिंदू शास्त्र के अनुसार ही हो रहे हैं और काल जो कुछ भी होने वाले हैं यह हिंदू ग्रंथ के अनुसार ही होने वाले हैं ।

प्रिय मित्रों कलयुग समाप्त होने के बाद घोर कलयुग आएंगे और उस समय सभी पापी आत्माओं की वास होगा जिसके लिए भगवान विष्णु कल्कि अवतार लेकर सभी को उद्धार करेंगे । प्रिय मित्रों मैं आपको जो भी बताया हूं इन ऋग्वेद, यजुर्वेद,सामवेद,अथर्ववेद से सरल भाषा में समझाने के प्रयास किया हूं  । प्रिय मित्रों यदि आपके अंदर में कोई भी प्रश्न है तो कमेंट करके अवश्य बताइए मैं आपके प्रश्न का उत्तर देने के लिए प्रयास करेंगे ।  

गुप्त टोटके

तांत्रिक टोटके

महाशक्तिशाली वशीकरण

इच्छापूर्ति टोटका

प्राचीन ऋषियों के शक्तिशाली टोटके

स्वास्थ्य संबंधी टोटके

घरेलू टोटके

भाग्य जगाने के टोटके

जमीन बेचने में अड़चन पर टोटके

इंद्रजाल टोटके

शनिवार के टोटके

Post a Comment

Previous Post Next Post