मृत्यु के बाद का यह है सत्य वचन सुनकर हो जाएंगे आप खुश

 

Knowledge power

इंसान का मृत्यु के बाद सच क्या है क्या आप जानना चाहते हैं तो हमारे साथ बने रहिए मित्रों नमस्कार हमारे वेबसाइट में आपका स्वागत है । प्रिय मित्रों इंसान का मौत के बाद सत्य क्या है क्या हम मरने के बाद इंसान बन सकते हैं ना कुछ और मरने के बाद हमारे साथ क्या हो सकता है यही सब जानकारी प्राप्त कीजिए हमारे साथ बने रहिए । 



जो मित्रों मृत्यु के बाद हमारे साथ क्या होने वाले हैं सत्य जानकारी प्राप्त के लिए मन की इच्छा को प्रकट किए हैं आज उनके लिए यह पोस्ट बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाले हैं  । 


आज के दौर में वर्तमान ज्यादा से ज्यादा अपने संतान को पढ़ाई में ध्यान देने के लिए कहते हैं ।  आज जिस तरह स्कूल कॉलेज यूनिवर्सिटी में शिक्षा दी जा रही है इस शिक्षा के जरिए ना तो आप ईश्वर को प्राप्त कर सकते हैं और ना ही अपने आप को समझ सकते हैं । आप पढ़ाई के जरिए भले ही इंजीनियर बन सकते हैं साइंटिस्ट बन सकते हैं लेकिन आप कौन हैं यह नहीं जान सकते हैं क्योंकि वर्तमान युग में कुछ ऐसे ही टेक्नोलॉजी पढ़ाई हो रहे हैं । 

वर्तमान पढ़ाई में टेक्नोलॉजी आ चुका है जहां आप खुद कुछ साबित करने के लिए तैयारी कर रहे हैं जो चीज कोई नहीं कर सकते हैं वह चीज आप करने की कोशिश कर रहे हैं ‌। दुनिया में टेक्नोलॉजी इसलिए और डेवलप्ड होते जा रहे हैं । जो लोग ज्यादा शिक्षित ग्रहण किए हैं यानी ज्यादा पढ़ाई किए हैं उन्हें अगर भूत प्रेत की या आत्मा की बात किया जाए तो शायद इस बात पर विश्वास नहीं करेंगे । इसलिए आज जो भी हम आपको बताने की प्रयास करेंगे यह धर्म शास्त्र के अनुसार ही बताएंगे । क्योंकि आज के टेक्नोलॉजी पढ़ाई और शास्त्र की पढ़ाई बहुत अंतर है । जो चीज शास्त्र के अनुसार प्राप्त कर सकते हैं वह चीज टेक्नोलॉजी में प्राप्त नहीं कर सकते हैं और जो चीज टेक्नोलॉजी में पाए जाते हैं यह सतयुग में ही वेदों में वर्णन किया गया । 


मृत्यु के बाद सत्य जाने से पहले आपको यह ज्ञात करना होगा कि हम मनुष्य इस धरती पर जन्म लिए हैं परंतु किसी भी मनुष्य के चेहरे एक जैसा क्यों नहीं होती है इसका क्या कारण है ? क्या यह कारण कोई वैज्ञानिक बोल सकता है , नहीं ना क्योंकि हम मनुष्य को स्वयं ईश्वर ही बनाया है और ईश्वर की बना हुआ चीज कभी बदल नहीं सकता है और ना ही आज तक किसी ने ऐसे दुस्साहस कर सके । 

जब हम ईश्वर को मानते हैं तो हम यह भी जानते हैं कि हम एक मनुष्य है और हमारे भीतर एक आत्मा है और हमारे आत्मा का पालनहार है परमात्मा जिसे हम लोग ईश्वर कहते हैं । ईश्वर ही हम सभी का पालनहार हैं वही देखरेख करते हैं । उनके इशारों पर ही सब कुछ होता है अगर आप ईश्वर को मानते हैं तो आप खुद को भी पहचान सकते हैं । 


इस पूरे ब्रह्मांड में दोनों चीज ही अमर है एक मृत्यु और एक जन्म । जिनकी जन्म हुई है उन्हें मृत्यु निश्चित है । इंसान का मृत्यु के बाद क्या होता है यह भी धर्म शास्त्र में वर्णन किया गया है । प्रिय मित्रों आप देखते होंगे कि कोई तरह के मनुष्य का जन्म होता है बहुत ऐसे लोगों का जन्म हुआ है जिसका जन्म से ही अंधा है तो कोई लंगड़ा है । प्रिय मित्रों यह बात क्या आपको ज्ञात हैं कि यह लोग जन्म से ही लंगड़ा अंधा एवं बहुत सा बीमारी लेकर क्यों पैदा होते हैं ?

 प्रिय मित्रों यह भी बहुत बड़ा एक प्रश्न है और इस प्रश्न का उत्तर यह है कि मनुष्य का जन्म उसी के अनुसार होता है जैसे उनकी कर्म रहेंगे ।

 धर्म शास्त्र में कहा गया है कि मनुष्य का जन्म 8400000 योनि में जन्म लेने बाद मनुष्य का जन्म होता है । धर्मशास्त्र में ऐसे वर्णन क्यों किया गया ? क्योंकि मनुष्य को डर होना चाहिए इस जन्म में बुरे कर्म करने से बचें । अगर कोई इंसान अच्छा कर्म करता है तो भी समय के अनुसार उसे फल मिलता है अगर वह बुरे कर्म करते हैं तो भी समय के अनुसार उसे फल प्राप्त होती है । इसलिए मित्रों कुछ बातें धर्मशास्त्र में इंसान को सही मार्ग दिखाने के लिए कुछ बढ़ा चढ़ा कर लिखा गया है। हम आपको बताएंगे कि यह 8400000 योनि में प्रवेश करने के बाद इंसान का जन्म होता है यह गलत है । 

आप तो भली-भांति जानते हैं मित्रों की आम के पेड़ पर कभी कटहल का फल नहीं होता है और ना ही अमरूद के पेड़ पर सेव बनता है । ठीक उसी प्रकार इंसान का आत्मा कभी किसी जानवर पर प्रवेश नहीं करता है और आप यह भली-भांति ज्ञात कर लीजिए । आप जिस प्रकार इस जन्म में कर्म करेंगे ठीक अगले जन्म में उसी प्रकार आपको फल मिलेंगे हो सकता है कि आपका कर्म अच्छा हो तो आपको फल समय से पहले मिल जाए । 


बहुत लोगों के मुंह से आप सुने होंगे कि मरने के बाद कुछ भी नहीं सब कुछ यहीं पर मिट जाता है लेकिन यह सारे सा गलत है । मरने के बाद इंसान का सब कर्म का हिसाब होता है । हम इंसान पुराने वस्त्र को छोड़कर नया वस्त्र धारण करते हैं ठीक उसी तरह हमारे आत्मा पुराने शरीर को छोड़ने के बाद एक नए शरीर को प्राप्त होता है और वह शरीर उनकी कर्म के अनुसार प्राप्त होती है ।


प्रिय मित्रों मृत्यु के बाद सच तो यह है कि आप इस जन्म में जो भी अच्छे बुरे कर्म करेंगे अगले जन्म में आपको इंसान का ही जन्म होंगे और इस जन्म के कर्म के अनुसार फल प्राप्त होंगे । इसलिए सदैव आप इस बात को ध्यान में रखते हुए आप अपना सही कर्म करते जाइए आने वाले समय में आपको ये भी ज्ञात हो जाएगा बुरे कर्म करने से क्या फल मिलता है और अच्छा कर्म करने से क्या फल प्राप्त होता है । मृत्यु के बाद इंसान के जो भी कर्म होता है उसका हिसाब किताब किया जाता है और उसके किस्मत में लिखा जाता है । उसके बाद उसका उसी जगह पर जन्म होता है जहां उनका कर्म बनता है । 


प्रिय मित्रों अगर इससे भी अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो किसी निर्जन स्थान पर जाकर तपस्या करना शुरू कर दीजिए आप भली-भांति ज्ञात कर सकते हैं इंसान का मृत्यु के बाद क्या होता है ।


प्रिय मित्रों मुझे आशा है कि हमारे यह पोस्ट पढ़ने के बाद आप समझ गए होंगे और भी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में ज्वाइन कर सकते हैं आपका दिन शुभ हो धन्यवाद ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ