हनुमान जी का शत्रु नाशक मंत्र ऐसे प्रयोग करें तुरंत असर होने लगेगा

 हनुमान जी का शत्रु नाशक मंत्र जानिए हमारे साथ मित्र नमस्कार हमारे वेबसाइट में आपको स्वागतम🙏


Hanuman


धरती पर कुछ ऐसे लोग होते हैं जहां दूसरे की अच्छा कपड़े पहनने से या अच्छा कमाई करने से जलते हैं । उन लोगों से छुटकारा पाने के लिए मेरे हिसाब से हर किसी को ऐसे ही मंत्रों का प्रयोग करनी चाहिए । मित्र जो लोग दूसरे की खुशी से जलते हैं उन्हें सबक सिखाना सबके लिए जरूरत है । मुसीबत तब होती है जब खामोखा बिना वजह से अपना ही शत्रु बनकर खड़ा हो जाते हैं औरत और रास्ते की बड़े कांटे होकर खड़े हो जाते हैं । बहुत अच्छे काम में बाधा उत्पन्न करते हैं  तो ऐसे लोगों से ना आप आर्थिक से लड़ पाएंगे और ना ही बल से ।  मित्रों इस प्रकार लोगों को सेवक अपने घर में ही सिखा सकते हैं तो चलिए शत्रु को नाश करने के लिए हनुमान जी का कौन सा मंत्र करना चाहिए जानते हैं ।


निशी रात में एक ऐसा जगह चुनिए जहां कोई ना हो पूरे सुरक्षित और  पवित्र स्थान हो ओर उत्तर दिशा में हनुमान जी के मूर्ति रखना चाहिए । हनुमान जी की मुंह दक्षिण दिशा में होना चाहिए । 

उसके बाद सरसों तेल से एक तीन मुखी वाले दीपक जलाना चाहिए । साथ में अगरबत्ती धूप भी जलाना चाहिए उसकी धुआं से एरिया के वातावरण शुद्ध हो जाते हैं । उसके बाद गंगा पानी लेकर चारे और छिड़काव करें इससे पूरे जगह पवित्र हो जाता है ।

उसके बाद इस मंत्रों का जप करें 

हं हनुमंते नम: 🙏 

1008 बार । रात को सोने से पूर्व हाथ-पैर और कान-नाक धोकर हनुमान की मूर्ति के सम्मुख होकर इस मंत्र का जप करें।

इसे लगातार 22 दिन तक करने से यह मंत्र सिद्ध हो जाता है । उसके बाद आपके जो व्यक्ति शत्रु  हैं उनके करीब जाकर सिर पर हाथ रखने के बाद आपसे  शत्रुता भूल जाएगी और मित्रता करने की हाथ बढ़ाएंगे ।


दूसरा इस मंत्र को सिद्ध करने के बाद

 हमेशा के लिए सत्र दूर हो जाएगा । 


👇
Hanuman



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ