दोनों किडनी खराब होने पर आदमी कितना दिन जिंदा रह सकता है जानिए विस्तार से

Health tips


किडनी क्या है | kidney kya hai


किडनी हमारे शरीर की अमूल्य अंग हैं हमारे शरीर में रक्त का परिसंचरण किडनी के द्वारा ही होता है। किडनी हमारे शरीर का परिसंचरण को नियंत्रित करती है और किडनी से हमारे शरीर एक मशीन की भांति कार्य करता है मनुष्य के चलने फिरने घूमने खाने-पीने जो भी कार्य करता है किडनी का महत्वपूर्ण योगदान होता है। किडनी को इंग्लिश में लीवर भी कहते हैं। 

अगर हमारे शरीर का अमूल्य अंग लिवर अगर खराब हो जाए तो मनुष्य को कुछ भी अच्छा नहीं लगता है जैसे कार्य करना खाना-पीना दौड़ना घूमना सेक्स आदि।


किडनी खराब क्यों होती है | kidney damage kyon hoti hai 


यह सवाल हर कोई व्यक्ति का होता है की आखिरकार किडनी खराब क्यों होती है? और कैसे होती है? 


किडनी खराब मधुमेह रोग होने से हो सकती हैं मधुमेह रोग किडनी खराब करने का महत्वपूर्ण या प्रमुख कारण रहा है ।


कई बार किडनी खराब उन लोगों को हो सकती है जो व्यक्ति उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं। जो उच्च रक्तचाप से पीड़ित है उसे किडनी नियंत्रित करने की कोशिश करती हैं।


किडनी खराब करने वाली दवा

किडनी खराब होने के लक्षण

किडनी खराब होने के कारण

किडनी खराब होने पर क्या खाएं

किडनी इन्फेक्शन के लक्षण

दोनों किडनी खराब होने पर क्या होता है


किडनी खराब का एक आनुवांशिक कारण भी माना जाता है। जो व्यक्ति आनुवांशिक रूप से ग्रस्त हैं उसे किडनी की बिमारी हो सकती है

जब व्यक्ति डाॅक्टर के पास चैक कराने जाता है तब डॉक्टर उसके परिवार की हिस्ट्री को निकाल कर पता करता है।


जिस व्यक्ति को ल्युपस बिमारी होती है ऐसे व्यक्ति को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए और डाॅक्टर को चैक करवाना चाहिए


जो व्यक्ति मूत्र नलिका संक्रमण से पीड़ित हैं ऐसे लोगों को विशेष ध्यान रखना चाहिए। और किडनी खराब होती है तब सबसे ज्यादा मूत्र नलिका को प्रभावित करता है। जिस व्यक्ति को मूत्र मार्ग में पैशाब उतरते समय जलन हो रही है तो चैक अप जरुर करवाये


किडनी खराब होने से बचाने का उपाय


जो लोग किडनी खराब होने से पीड़ित हैं ऐसे लोगो नीचे दिए गए उपाय करके किडनी खराब होने से बच सकते हैं

किडनी डायलिसिस - इस प्रक्रिया से किडनी की सफाई की जाती है और खराब किडनी का इलाज डायलिसिस के माध्यम से किया जा सकता है।

खून चैक अप करवाना - जब किडनी खराब से ग्रस्त व्यक्ति डाॅक्टर के पास जाता है तब डॉक्टर खून चैक करके पता लगाता है कि किडनी खराब होने से व्यक्ति कितना प्रभावित होता है।



किडनी खराब करने वाली दवा

किडनी खराब होने के लक्षण

किडनी खराब होने के कारण

किडनी खराब होने पर क्या खाएं

किडनी इन्फेक्शन के लक्षण

दोनों किडनी खराब होने पर क्या होता है

मूत्र की जांच- जब किडनी खराब होती है तब मूत्र नलिका सबसे ज्यादा प्रभावित होता है ऐसे में डाॅक्टर मूत्र नलिका के माध्यम से पता लगाता है। इसलिए जब भी मूत्र मार्ग में कोई परेशानी आये तो तुरंत डॉक्टर से सलाह जरूर लें। और डाक्टर यूरिन टेस्ट करके बता देता है।

MRI करवाना- जब किडनी खराब होने पर डॉक्टर के पास जाते हैं तब डॉक्टर किडनी की तस्वीर लेता है इसे ही सीटी स्कैन या MRI कहते हैं, और इस फोटो से डाॅक्टर पता लगा लेता है और उससे संबंधित इलाज करवाने की सलाह देता है।

किडनी ट्रांसप्लांट- जिस व्यक्ति को किडनी का इलाज सभी तरीके से सफल नहीं होता है तब डॉक्टर किडनी बदलने की सलाह देता है जिसे किडनी ट्रांसप्लांट कहते हैं, इसके द्वारा किडनी को बदला जाता है।


दोनों किडनी फेल होने जाने पर आदमी कितने दिन जिंदा रह सकता है? 


किडनी में कुछ ऐसे बीमारी है जो किसी से ठीक करना है संभव है। लेकिन फिर भी इस बीमारी को जड़ से ठीक किया जा सकता है। और मरीज़ अपने जीवन में लंबे समय तक जिंदा रह सकता है। 

यह कहना मुश्किल होगा कि दोनों किडनी फेल होने पर आदमी कितने दिन जिंदा रह सकता है किडनी की बीमारी कई प्रकार की होती है किडनी खराब होने पर कई लोग कई साल जिंदा रह सके और कई लोग कुछ महीनों तक ही जिंदा रहते हैं। 

वैसे तो किडनी खराब होने के बाद इलाज संभव है लेकिन सही और सटीक इलाज कौन सा है उसको खोज पाना मुश्किल है वर्तमान समय में बहुत सारे एलोपैथिक डॉक्टर किडनी का इलाज डायलिसिस के द्वारा करते हैं और इसके साथ बहुत सारे इससे भी आयुर्वेदिक डॉट रहे हैं जो दावा करते हैं कि डायलिसिस को जड़ से खत्म कर देंगे लेकिन इस बात में कितनी सच्चाई है और कितना झूठ है यह किसी को पता नहीं है और इसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं की किडनी खराब होने के बाद क्या करें और क्या ना करें। 


आयुर्वेदो की बात करें तो आयुर्वेद के द्वारा कितने प्रतिशत जिंदगी जी सकते हैं अगर किडनी दोनों फेल हो गई तो इसके लिए आयुर्वेदिक एक ऐसा माध्यम है जो किडनी को जड़ से ठीक कर देता है और डायलिसिस को भी रोकता है। किडनी को ट्रांसप्लांट होने के बाद आपको अपने आप को अपने प्रति जागरूक रहना होगा। और सही तरह का खानपान मिलना जरूरी है हवाई आपको टाइम पर लेना आवश्यक है।


किडनी खराब करने वाली दवा

किडनी खराब होने के लक्षण

किडनी खराब होने के कारण

किडनी खराब होने पर क्या खाएं

किडनी इन्फेक्शन के लक्षण

दोनों किडनी खराब होने पर क्या होता है

किडनी खराब होने के बाद में क्या सेवन करें


किडनी खराब होने के बाद महत्व पूर्ण रूप से पौष्टिक आहार संयुक्त फल फ्रूट का सेवन करना चाहिए

किडनी खराब होने के बाद यहां किडनी का ऑपरेशन होने के बाद टमाटर नहीं खाना चाहिए यानी कि बीज वाले फल फ्रूट नहीं खाने चाहिए इसका विशेष रूप से ध्यान रखना होगा।

स्वस्थ और साफ पानी को पीना चाहिए

किडनी फेल होने के बाद क्या खाना चाहिए

किडनी फेल होने के बाद अनाज में गेहूं और चावल, दाल में मूंग व फल सब्जियां में अनार, पपीता, शिमला मिर्च, प्याज, लौकी, तोरई, करेला, कद्दू , मुलीकिरा, कुंदरू, गोभी, शिमला मिर्च ।

कोई भी सब्जी या फलों का जूस ना ले

दाल बनाने से पहले दाल को भिगोकर रखें

अत्यधिक ज्यादा बीमारी होने पर पनीर का सेवन करें

सब्जियों को अच्छी तरह से उबालकर सब्जी बनाएं


किडनी खराब करने वाली दवा

किडनी खराब होने के लक्षण

किडनी खराब होने के कारण

किडनी खराब होने पर क्या खाएं

किडनी इन्फेक्शन के लक्षण

दोनों किडनी खराब होने पर क्या होता है

किडनी बीमारी होने के 10 संकेत


गर्मियो में ठंड लगना

बिना किसी काम के सांस फूलना

हाथ पैरों और शरीर में सूजन

शरीर पर खुजली आना

भोजन अच्छा नहीं लगना

रात को सोते वे जागकर पेशाब करने जाना

पेट खराब है ना

यूरिन बदल जाना

सोचने समझने की शक्ति खत्म हो जाना

चक्कर आना आदि


दोनों किडनी खराब होने पर आदमी कितना दिन जिंदा रह सकता है ।


डॉक्टर के अनुसार किडनी खराब होने के बाद कुछ ही घंटे इंसान जिंदा रह सकते हैं क्योंकि दोनों किडनी खराब होने के बाद शरीर के पूरे अंग काम करना बंद कर देता है जिसके कारण इंसान का मौत होने में कुछ देर समय लगता है ।



किडनी खराब करने वाली दवा

किडनी खराब होने के लक्षण

किडनी खराब होने के कारण

किडनी खराब होने पर क्या खाएं

किडनी इन्फेक्शन के लक्षण

दोनों किडनी खराब होने पर क्या होता है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ